A Short Moral Story And Picture For Class 7 & 8 & 10 In Hindi

A Moral Story In Hindi

hello dosto toh main aapke liye kuch naya topic lekar aaya hu kafi jayda majedaar topic hain jis ka naam A Moral Story In Hindi mein hain jisse aapko padhne mein asani ho agar aap ase hi achche achche A Moral Story and shayari dekhna  chahatein hain toh hamare website ko subscribe karle jisse ki main jo post dalunga uska notification aapke pass sabse pahle jaaye toh jaldi se subscribe kar lo kyuki is tarike ke story aur shayari milte rahenge 


A Short Moral Story And Picture For Class 7 & 8 & 10 In Hindi




स्टॉप मेरे  भाई स्टॉप सौरभ ने मेरे हाथ से व्हिस्की का गिलास छुराते हुए कहा मैं नशे में हू मैने कहा हम मेक्शिफ्ट बार के पास ड्राइयिंग रूम के एक कोने में बाते हुए थे कोचिंग क्लास फेकलटी के बाकी के लोग अरोरा सर के इर्द गिर्द जमा थे वे कभी भी उनकी लालोप चपो करने का मौका नही गावते थे हम चंदन क्लास के संचालक और हमारे बॉस चंदन अरोरा के मालवीए नगर स्थित घर पर आए थे तुमने मेरी कसम खाई थी की तुम दो ड्रिंक से जयदा नही पीओगे सौरभ ने कहा मैं उसे देखकर मुस्करा दिया  हा लेकिन मैने ड्रिंक्स की साइज़ तो तय नही की थी ना  एक ड्रिंक में आधी बोतल भी तो पी जा सकती हैं मेरी आवाज़ लरखरा गयी मैं खुद ठीक से खरा नही हो पा रहा था तुम्हे ताज़ी हवा की ज़रूरत हैं चलो बालकनी में चलते हैं सौरभ ने कहा मुझे केवल ताज़ी विस्की की ज़रूरत हैं मैने कहा सौरभ मेरी बाह पकरकर मुझे खिचते हुए बालकनी में ले गया मुझे तो यकीन ही नही हुआ की थुलथुल शरीर वाला  इंसान इतना ताक़तवर कब से हो गया था यहा तो  कराके की सर्दी हैं मैने ठंड से कापते हुए कहा अपने आपको गर्म बनाए रखने के लिए मैं अपनी हथेलिया  को मलने लगा भाई तुम्हे इतनी नही पीनी चाहिए यह न्यू ईयर ईव हैं तुम तो जानते ही हो इस तारीख को मुझे क्या हो जाता हैं वो अब बीती बात हो गयी हैं चार साल पुरानी अभी साल 2020 लगने जा रहा हैं लगता हैं जैसे चार पल पहले की बात होमने कहा (A Short Moral Story)

Moral Story In Hindi Short

मैने सिगरेट का पेकेट निकाला लेकिन उसे सौरभ नि छीन लिया और अपने जेब के हवाले कर दिया मैने  फोन निकाला और अपने अगले नशे के क्न्टॅक्ट डीटेल्स खोल लिया ज़रा उसने उस रात को काया कहा था मैने ज़रा  के व्हत्सप्प प्रोफाइल पिक्चर को देखते हुए कहा हमारे  बीच सब ख़त्म हो गया हैं यही कहा था न उसने लेकिन हमारे बीच सब ख़त्म हो गया हैं यानी क्या वा हम शब्द का  इस्तेमाल केसे कर सकती  हैं मेरी तरफ से अभी ख़त्म नही हुआ भाई फोन को बंद कर दो तुम्हारी तरफ से  उसे एक एक्सीडेंटल कॉल चला जाएगा सौरभ ने कहा और मेरा फोन छीनने के कोशिश कीमैन दूर हो  गया ज़रा देखो इसे मैने सौरभ से कहा और मेरा फोन की स्क्रीन घुमातें हुए कहा उसने डीपी में एक सेल्फी लगा रखी थी पॉटिंग कमर पर हाथ  और काली सारी उसके गोरे लगभग गुलाबी  चेहरे के साथ एक नाटकिए कॉंट्रास्ट रचते हुए वा हमेशा डीपी में अपनी तस्वीर नही लगती थी अक्सर वह कोटस लगा देती थी जिंदगी को अपनी राह रोकने का अक्सर मत दो किस्म के कोटस एसे बयान जो  सुनने में तो संजीदा लगते लेकिन वास्तव में जिनका कोई मटलव नही होता  (A Short Moral Story)


A Moral Story Of  Kids

उसकी वत्सप्प डिसप्ले पिक्चर ही अब उससे मेरा इकलौता जुड़ाव रह गया था इसी से मुझे पता चलता था की उसकी जिंदगी में क्या हो रहा हैं भला काली सारियाँ कों पहनता हैं वा इसमे इतनी अची नही लग रही हैं सौरभ ने कहा वह हमेशा अपने  तरफ से पूरी कोशिश करता था  की मैं जेसा भी हू उसे अपने दिमाग़ से निकल सकु सौरभ मेरा सबसे अछा दोस्त था और जिंदगी नाम की इस पागलपन भारी डोर में वो मेरा सबसे अछा साथी था वह जयपुर से था जो की मेरे श्हार अलवर से दूर नही था उसके पिता प्ड्व्लूडी में बतोर जूनियर इंजिनीर काम करते थे मेरी ही तरह कॅंपस के बाद उसका भी प्लेसमेंट नही हुआ था हम दोनो चंदन कालशसे में जी तोड़ मेहनत करते थे यह जानते हुए भी की हम जल्द से जल्द इस जगह से बाहर निकल जाना चाहते थे वो ज़ारा हैं वो हमेशा ही अची लगती हैं मैने दो टुक अंदाज़ मैं कहा सौरभ ने कंधे उचका दिए इसी बात का तो दुख भी हैं(A Short Moral Story)

conclusion

hello gyus toh aapko ye a moral story in hindi me kase laga toh comment karke jarur bataye

Tags

a moral story in hindi,
moral story in hindi short,
moral story in hindi for class 7,

a moral Story of kids,

a short moral story and picture for class 7 & 8 & 10 in hindi,


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां